Vigyanika: Vigyan Kavi Sammelan (H)

विज्ञान अगर कविताओं में ढल जाए, तो क्या रंग बिखरता है इसका सुंदर रुप देखने को मिला पाँचवें अंतर्राष्ट्रीय भारतीय विज्ञान महोत्सव के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम विज्ञान कवि सम्मेलन - विज्ञानिका में। इस वैज्ञानिक काव्य अनुष्ठान में जिन कवियों ने कविता की सरिता बहायी, वे हैं - लक्ष्मीशंकर वाजपेयी, पंडित सुरेश नीरव, पंकज प्रसून, नीलोत्पल मृणाल, शुभ्रता मिश्रा, डॉ. सुनीता, यशपाल, मधु मिश्रा, डॉ. गुरुदेव और चंद्रकान्ता।