Vigyanika - Kolkata: Vigyan Aur Sahitya Ka Utsav (H)

कविता की सरलता, संगीत की लयबद्धता और विज्ञान-मन की उत्सवधर्मिता से ओतप्रोत ‘विज्ञानिका’ एक अनूठा प्रयोग है, जिसमें विज्ञानमय साहित्य का उत्सव मनाया गया। कोलकाता के बिश्व बांग्ला सेंटर में तीन दिन तक चले विज्ञान और साहित्य के अनूठे संगम ‘विज्ञानिका’ की चार मुख्य कड़ियां रहीं - विज्ञान मंथन, विज्ञान स्पंदन, विज्ञान मंचन और विज्ञान प्रकाशन। देश और विदेश से आए विशेषज्ञों, वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं ने विज्ञान संचार से जुड़े विभिन्न विषयों पर अपने विचार साझा किए।