Promo: Agharkar Research Institute: India’s Pioneer Science Research Institute (H)

विज्ञान हमारे भूत, भविष्य और वर्तमान का साक्षी है और जो विज्ञान से दोस्ती करते हैं, वो जीवन में दूरदर्शी बनते हैं। अघारकर अनुसंधान संस्थान (ARI) एक ऐसी ही संस्था है। ये दोस्ती 1946 में महाराष्ट्र एसोसिएशन फॉर द कल्टिवेशन ऑफ़ साइंस (MACS) के रूप में शुरू हुई, और 1992 से ARI के रूप में पनप रही है। जीवन विज्ञान के सभी क्षेत्रों में ARI की अनुसंधान और विकास गतिविधियाँ छह अलग- अलग विषयों में फैली हुई हैं : जैव विविधता और जीवाश्म विज्ञान, जैव ऊर्जा, बायोप्रोस्पेक्टिंग, विकासात्मक अनुदान, आनुवंशिकी और पौध प्रजनन / जेनेटिक्स एंड प्लांट ब्रीडिंग, और नैनोबायोसाइंस। आधुनिक सुविधाओं, सुसज्जित प्रयोगशालाओं, बेहतरीन शोधकर्ताओं की मदद से ARI विज्ञान में अनुसंधान का दायरा लगातार बढ़ाता रहेगा। ये फिल्म ARI के अतीत, वर्तमान और भविष्य का विस्तृत विवरण है। इस वीडियो के ज़रिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार की इस धरोहर के बारे में आप भी जानिए।

Related Videos