Let's Keep India Mentally Fit! - Life in Science with Pallava Bagla (H)

आइए, मानव शरीर के सबसे जटिल अंग यानी मस्तिष्क को समझने के लिए मानसिक स्वास्थ्य अस्पताल की यात्रा करते हैं...। 21 वीं सदी में व्यस्त जीवनशैली की वजह से दिमाग को बहुत-सी मानसिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में, जानना दिलचस्प होगा कि मस्तिष्क, मन और चेतना के बीच किस प्रकार का अंतर्संबंध है? क्या आत्महत्या की घटनाओं को रोका जा सकता है? आखिर इसके क्या-क्या लक्षण होते हैं? क्या सोशल मीडिया और स्मार्ट फोन का अधिक उपयोग हमें अकेलेपन की ओर धकेल रहा है? क्या कोविड-19 महामारी भारत में कई लोगों को विक्षिप्त बनाएगा? इन तमाम सवालों के समुचित जवाब जानने के लिए आइए मिलते हैं - भारत के जाने-माने मनोचिकित्सक और मानव व्यवहार और संबद्ध विज्ञान संस्थान (इहबास), नई दिल्ली के निदेशक डॉ. निमेष देसाई से, जिनका मानना है कि आपदाओं से निपटने में आमतौर पर भारतीयों के अंदर एक विशेष प्रकार की मानसिक दक्षता होती है। इसके अलावा, देखना दिलचस्प होगा कि वे मानसिक रूप से बीमार इंसानों को किस तरह से ठीक करते हैं। ये भी जानेंगे कि आखिर मनोरोगियों को क्यों दिये जाते हैं बिजली के झटके ? इसके लिए देखिए, आधुनिक मानसिक स्वास्थ्य अस्पताल के अंदर का नजारा। जैसा हम सब फिल्मों में देखते हैं, यहां की तस्वीर उससे बहुत अलग है। डॉ.देसाई फिल्मों की भी बात करते हैं और समाज पर उनसे पड़ने वाले प्रभावों के बारे में भी बताते हैं। और हाँ, इसके साथ ही, वे वर्षों पुरानी ब्लॉकबस्टर फिल्म 'अनाड़ी' का एक गीत भी गाते हैं।