Animals & Pollution (H)

अपने दैनिक क्रियाकलाप को संपन्न करने के लिए पशु-पक्षियों में आपसी संवाद की एक रोचक प्रक्रिया होती है। गंध, स्पर्श,आवाज, दृश्य संकेतों के माध्यम से पशु-पक्षी संवाद करते हैं। लेकिन आज उनके संवाद में खलल पड़ रहा है प्रदूषण का। प्रदूषण केवल हम मनुष्यों के लिए ही नहीं, बल्कि पशु-पक्षियों के लिए भी खतरा बनता जा रहा है। इसी मुद्दे पर आयोजित परिचर्चा - पशु-पक्षी और प्रदूषण - में विशेषज्ञों ने अपने विचार प्रस्तुत किए।