Alternate of Plastic (H)

"भारत सरकार ने आने वाले वर्षों में देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करने का संकल्प लिया है। वर्तमान में, 50 माइक्रोन से कम मोटाई वाली प्लास्टिक वस्तुओं पर प्रतिबंध है। पॉलीथीन बैग और पैकेजिंग के अन्य उत्पादों के लिए कम से कम 125 माइक्रोन की मोटाई तय करने का प्रावधान है। कई सरकारी और गैर-सरकारी संगठन प्लास्टिक के विकल्प से बने उत्पादों के विकास और प्रस्तुति में शामिल हैं। इनमें राष्ट्रीय बांस मिशन, आईआईटी-गुवाहाटी का सेंटर ऑफ एक्सीलेंस-सस्टेनेबल पॉलिमर, रक्षा खाद्य अनुसंधान प्रयोगशाला , आईआईटी-दिल्ली, सीएसआईआर-सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट और सीएसआईआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम के नाम प्रमुख हैं। व्यापक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय जागरूकता अभियान और नीतिगत बदलावों ने समुदाय और घरेलू स्तर पर उपायों को प्रेरित किया है। वे अब जरूरत और पर्यावरण के अनुकूल बैगों का उपयोग कर रहे हैं साथ ही वे कचरे की छंटाई, पुनर्चक्रण, इसमें कटौती करने और इसे पुनः उपयोग के प्रति भी प्रेरित हो रहे हैं।"